वन महकमे को बौना बना रहे हैं खनन माफिया, चार दिन में दो बड़े हमले, जबरन छुड़ा ले गए खनन वाहन, अफसर को जान का खतरा

कुमाऊं में महज चार दिन के भीतर खनन माफिया ने एसडीओ, रेंजर और वन कर्मियों पर किया हमला
बेखौफ खनन माफिया पथराव करके खनन से भरी सामग्री वन विभाग के अधिकारियों से जबरन छुड़ा ले गए
यूं ही खनन माफिया के हौसले बुलंद रहे तो किसी दिन और बड़ी घटना को दे सकते हैं अंजाम, कसना होगा कड़ा शिकंजा

NAVEEN PANDEY, देहरादून: कुमाऊं में खनन माफिया बेखौफ हो गए हैं। महज चार दिन के भीतर नैनीताल जनपद अंतर्गत खनन माफिया ने हमला कर वन विभाग और वन निगम के अधिकारियों को खुली चुनौती दे दी है। खनन माफिया ने चार दिन के भीतर न केवल जानलेवा हमला किए हैं बल्कि जबरन खनन सामग्री से लदे वाहन तक को छुड़ा ले गए। ऐसे में यदि वन महकमे ने इस ओर सख्ती नहीं दिखाई तो उत्तराखंड में खनन माफिया इससे भी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं , इसे लेकर वन निगम के अधिकारी ने अपनी जान का खतरा तक बताया है लिहाजा प्रमुख वन संरक्षक स्तर के अधिकारियों को कड़े निर्णय लेने की जरूरत है।
ताजा मामला तराई पश्चिमी वन प्रभाग के अंतर्गत का है। जहां पर खनन माफिया ने एसडीओ प्रदीप धौलाखंडी की टीम पर न केवल पथराव किया बल्कि उपखनिज से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर फरार हो गए। बताया जाता है कि बंजारी प्रथम गेट पर अवैध खनन में संलिप्त वाहन जब्त करने के दौरान खनन माफिया ने एसडीओ, रेंजर और वन कर्मियों के वाहन पर पथराव कर दिया। एसडीओ की ओर से दी गई तहरीर में कहा गया है कि रविवार दोपहर एक बजे वह बैलपड़ाव रेंजर विजेंद्र अधिकारी, बन्नाखेड़ा रेंजर लक्ष्मण सिंह मर्तोलिया, अर्दली भैरब दत्त भट्ट और वाहन चालक मुराद के साथ गश्त कर रहे थे। कोसी नदी के बंजारी प्रथम गेट के पास नदी क्षेत्र में ट्रैक्टर-ट्राॅली से खनन किया जा रहा था। टीम ने पीछा कर ट्रैक्टर को पकड़ा और उसे ज्वाला वन चौकी ले जाने लगे। अज्ञात लोगों ने उनकी बोलेरो पर पथराव कर दिया और आरोपी उपखनिज लदे ट्रैक्टर को छुड़ाकर ले गए। तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। इससे पहले कोसी नदी में अंतर्गत कालूसिद्ध निकासी गेट के निरीक्षण के दौरान करीब चार दिन पहले वन निगम के सहायक लौंगिक अधिकारी के वाहन पर डंपर चढ़ाने का प्रयास किया गया। चालक की सूझबूझ से लौगिंक अधिकारी बाल-बाल बच गए लेकिन खनन माफिया इसके बाद लौगिंक अधिकारी से धक्कामुक्की कर डंपर वाहन छुड़ा ले गए। उसी दिन
सहायक लौंगिक अधिकारी ने कहा था उन्हें खनन माफिया से जान का खतरा है।

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!