दून आ रहे हैं तो पढ़ लीजिए ये खबर, कहीं मुसीबत न बन जाए आपकी कार

यातायात को लेकर सरकार की पेसानी पर पड़ रहा है बल, सीएस ने संभाला मोर्चा
नो पार्किंग में वाहन खड़ी करेंगे तो भरने होंगे मैक्सिम चालान, ड्रोन कैमरों से नजर
यातायात सुचारु संचालन को लेकर मुख्य सचिव ने लिए कई अहम निर्णय

दैनिक समाचार, देहरादून: देहरादून में यातयात संचालन मुसीबत बनता जा रहा है। प्रशासन और पुलिस के लाख इंतजाम के बाद भी दून का यातयात संभल नहीं पा रहा है। जिससे जाम यहां पर आम हो चुका है। अब सरकार की चिंता पर मुख्य सचिव ने इसे गंभीरता से लिया है और सुचारु यातायात को लेकर संबंधित सभी विभागों को तलब करते हुए निर्देश दिए हैं।
मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने गुरूवार को सचिवालय में देहरादून में यातायात संकुलन को कम करने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने सभी संबंधित विभागों की एक कमेटी बनाने की बात कही और तय किया कि ट्रैफिक कन्जेशन को कम करने के लिए प्रत्येक सप्ताह कमेटी बैठक करेगी। यह भी सख्त निर्देश दिए कि नो पार्किंग एरिया में गाड़ी पार्क करने वालों पर अधिक से अधिक चालान किए जाएं। इसके लिए ड्रोन कैमरों का अधिक से अधिक प्रयोग किया जाए।
मुख्य सचिव ने शहर के यातायात संकुलन कम करने की दिशा में लगातार अनुश्रवण प्रणाली की देखरेख के लिए यूनिफाइड मेट्रोपोलिटन ट्रांसपोर्टेशन अथॉरिटी (UMTA) पाक्षिक रूप से बैठक आयोजित करने पर जोर दिया। कहा कि यातायात संकुलन को कम करने के लिए आमजन का पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर विश्वास जगाना आवश्यक है। उन्होंने पब्लिक ट्रांसपोर्ट की फ्रीक्वेंसी बढ़ाने और साथ ही वाहनों की टाइमिंग भी सुनिश्चित करने की बात कही। अधिक से अधिक तकनीक का प्रयोग प्रत्येक बस स्टॉप करने की बात कही और ये भी जोड़ा कि अगली आने वाली बस के पहुंचने का समय भी प्रदर्शित किया जाना चाहिए। कहा कि इसके लिए शीघ्र से शीघ्र शहर के भीतर ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सुनियोजित तरीके से मजबूत किए जाने की आवश्यकता है।
चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि यातायात संकुलन को कम करने के लिए इंजीनियरिंग, इन्फोर्समेंट और एजुकेशन पर फोकस किए जाने की आवश्यकता है। जहां पर इंजीनियरिंग से यातायात में सुधार हो सकता है, तुरंत शुरू किया जाए। यातायात संकुलन को रोकने के लिए नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। नो पार्किंग एरिया में गाड़ी पार्क करने वालों पर अधिक से अधिक चालान किए जाएं। इसके लिए ड्रोन कैमरों का अधिक से अधिक प्रयोग किया जाए।

ये लिया गया निर्णय
शहर में स्कूल बसों से लगने वाले जाम को कम करने के लिए प्रत्येक स्कूल में जाकर वहां की परिस्थितियों के अनुसार अलग प्लान तैयार किया जाएगा। ताकि ट्रैफिक को सुधारने में मदद मिल सके। ट्रैफिक फीडबैक सिस्टम विकसित किया जाएगा। आमजन में यातायात संकुलन को कम करने के लिए शिक्षित किए जाने पर जोर दिया गया। लघु फिल्मों के माध्यम से प्रचार प्रसार किया जाएगा। विशेषकर स्कूली बच्चों को अधिक से अधिक शिक्षित किए जाने की दिशा में निर्णय लिया गया।

ये अफसर रहे मौजूद
अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, सचिव अरविन्द सिंह ह्यांकी, प्रबन्ध निदेशक उत्तराखण्ड मेट्रो रेल कारपोरेशन जितेन्द्र त्यागी, निदेशक यातायात मुख्तार मोहसिन, जिलाधिकारी देहरादून सोनिका, एसएसपी देहरादून दिलीप सिंह कुंवर, मुख्य नगर अधिकारी मनुज गोयल, उपाध्यक्ष एमडीडीए बंशीधर तिवारी एवं एसपी ट्रैफिक अक्षय प्रह्लाद कोण्डे आदि मौजूद रहें।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!