‘धाकड़ धामी’ की जीरो टारलेंस नीति का कड़ा संदेश, विजलेंस की विभागों पर ‘तिरछी निगाह’

हरिद्वार जनपद में महज महीने भीतर दो बड़ी कार्रवाई, विजलेंस बेहद सक्रिय, रख रही नजर

दैनिक समाचार, हरिद्वार: हरिद्वार जनपद अंतर्गत विजलेंस ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। महज महीने भर में विवादों में रहने वाले चकबंदी विभाग से दो कर्मियों को घूस लेते पकड़े जाने के बाद यह संदेश साफ है कि धामी सरकार भ्रष्टाचार पर नकेल कसने का दमखम दिखा रही है। विगत दिनों से विजलेंस देहरादून की टीम भी लगातार सेमिनार आदि करके लोगों को जागरूक करने का भी काम कर रही है। नंबर जारी करके भ्रष्टाचार करने वाले की शिकायत करने की अपील कर रही है ताकि ‘धाकड़ धामी’ के भ्रष्टाचार पर नकेल और जीरो टारलेंस की मोदी की नीति को सफल बनाया जा सके। सूत्र बताते हैं कि विजलेंस इस तरह की कार्रवाई अभी और करेगी और अन्य विभागों पर भी उसकी ‘तिरछी निगाह’ है।
बहरहाल, अभी के घटनाक्रम के अनुसार हरिद्वार जनपद अंतर्गत जमीनी विवाद में मुकदमा दर्ज होने से बचाने की एवज में 50 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए देहरादून विजलेंस की टीम ने चकबंदी विभाग से लेखपाल को गिरफ्तार किया है। इससे पहले भी विजलेंस की टीम ने एक लेखपाल को रिश्वत लेते रंगों हाथों पकड़ा था। फिलहाल विजलेंस की टीम ने पूछताछ के बाद मुकदमा दर्ज किया है और आरोपी को जेल भेज दिया है।
मोहम्मद यूसुफ निवासी ग्राम बोडाहेड़ी रुड़की ने विजलेंस देहरादून को शिकायत दर्ज कराई थी कि वर्ष 2013 में खरीदी गई वसीयत की जमीन को उसने खरीद-फरोख्त कर बेच दिया था। इसका वाद एडीएम कोर्ट में विचाराधीन है। इस मामले में चकबंदी कार्यालय बहादराबाद में तैनात लेखपाल वीरेंद्र कुमार निवासी सिंधी वाली गली गंगनहर रुड़की ने धमकी दी कि एडीएम कोर्ट से मामले में पुलिस में मुकदमा दर्ज करने के आदेश हो गए हैं। आरोप है कि लेखपाल ने मुकदमे से बचाने के लिए डेढ़ लाख की डिमांड की। बाद में 50 हजार में मामला तय हो गया। विजिलेंस ने शिकायत की जांच कराई, जिसमें मामला सही निकला। जिस पर एसपी विजिलेंस रेनू लोहानी के निर्देश पर चकबंदी कार्यालय बहादराबाद में देहरादून से विजलेंस की टीम पहुंची और जैसे ही शिकायतकर्ता ने लेखपाल को रिश्वत दी, उसी समय विजिलेंस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि थाना सतर्कता अधिष्ठान सेक्टर देहरादून में आरोपी लेखपाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

लेखपाल वीरेंद्र कुमार

विजलेंस की महीने भर के भीतर दूसरी बड़ी कार्रवाई
विजलेंस ने इससे पहले 17 अप्रैल को रुड़की अंतर्गत तहसील में कार्यरत पेशकार को दस हजार की रिश्वत लेते पकड़ा था। गुरुवार को बहादराबाद अंतर्गत चकबंदी विभाग अंतर्गत लेखपाल को 50 हजार घूस लेते घर दबोचा।

विजलेंस है सचेत, करें यहां शिकायत
एसपी विजलेंस रेनू लोहानी ने बताया कि अगर किसी भी सरकारी कर्मचारी, अधिकारी किसी कार्य के लिए रिश्वत की मांग करता है तो टोल फ्री नंबर 1064, और UK1064 एप, सतर्कता अधिष्ठान की वेबसाइट www.vigilance.uk.gov.in के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि शिकायत दर्ज कराने वाले की जानकारी पूरी तरह से गोपनीय रखी जाती है। विजिलेंस की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!