वसीम रिजवी उर्फ जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी के खिलाफ मुकदमा दर्ज

-ज्वालापुर कोतवाल बोले, जांच के बाद किया जाएगा औरों को नामजद

दैनिक सामचार, हरिद्वार

तीन दिवसीय धर्म संसद में हेट स्पीच को लेकर अब ज्वालपुर कोतवाली में एक और मुकदमा दर्ज किया गया है। ये मुकदमा वसीम रिजवी उर्फ जितेन्द्र नारायण सिंह त्यागी के खिलाफ किया गया है। धर्मसंसद में हेट स्पीच के मामले में वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। रिजवी के खिलाफ अब ज्वालापुर कोतवाली में एक और मुकदमा दर्ज हुआ है। उन पर धार्मिक स्थलों, धर्मगुरुओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी और उन्मादी भाषण का आरोप है। पुलिस ने धारा 153ए और 298 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। ज्वालापुर कोतवाल चंद्र चंद्राकर नैथानी ने बताया कि नदीम अली निवासी मोहल्ला कोटरावान ज्वालापुर ने 17 से 19 दिसंबर के बीच हुई धर्मसंसद को लेकर तहरीर दी है। जिसमें विशेष संप्रदाय के लोगों के खिलाफ युद्ध छेड़ने और एक धर्म के ग्रंथ के बारे में आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। इसी आधार पर वसीम रिजवी के खिलाफ हरिद्वार कोतवाली के अलावा अब ज्वालापुर में भी एक और मुकदमा दर्ज किया गया है। कोतवाल ने बताया कि जांच के बाद अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। तहरीर में महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि, संत सागर सिंधू, धर्मदास, परमानंद, साध्वी अन्नपूर्णा भारती, स्वामी आनंद स्वरूप, अश्विनी उपाध्याय, सुरेश चव्हाण के और स्वामी प्रबोधानंद गिरि के नाम भी लिखे हैं। धर्म संसद के प्रमुख वक्ता एवं शांभवी पीठाधीश्वर स्वामी आनंद स्वरूप ने रविवार को एक वीडियो जारी कर कहा कि संतों की ओर से दी गई तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया जबकि पुलिस संतों पर मुकदमा दर्ज कर रही है। यह न्यायोचित नहीं है। कहा कि संतों के खिलाफ दर्ज मुकदमा रद्द किया जाए। ऐसा नहीं करने पर संत समाज ने सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी है।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!