हिंदुओं के खिलाफ लड़ने को आखिर सिब्बल को कहां से हो रही फंडिंग : आनंद स्वरूप

-धर्म संसद के संरक्षक ने बयान जारी कर उठाए सवाल

-कपिल सिब्बल सदैव ही हिंदू विरोधी ताकतों के साथ में क्यों खड़े होते हैं

-धर्म संसदों को रोकने का देश में रचा जा रहा षड्यंत्र

दैनिक समाचार, हरिद्वार

धर्म संसद की बढती हुई लोक प्रसिद्धी से देश में जिहादी मानसिकता वाले लोग बहुत परेशान हैं और वे धर्म संसद को रोकने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। अनेक प्रकार से कुचक्र रच रहे हैं। हिंदू विरोधी मानसिकता वाले लोग हिंदू समाज को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं तथा अनेक प्रकार का षड्यंत्र रच रहे हैं। आखिर बड़े वकीलों जिसमें कपिल सिब्बल जैसे अधिवक्ता शामिल हैं उन्हें फंडिंग कौन कर रहा है। कपिल सिब्बल तो पहले भी भगवान राम का विरोध रहे हैं।

ये बयान धर्म संसद के संरक्षक और शाम्भवी पीठाधीश्वर आनंद स्वरूप ने दी। कहा कि धर्म संसदों का आयोजन अलीगढ़, कुरुक्षेत्र और हिमाचल प्रदेश में होना है। इन पर रोक लगाने के लिए देश के सुप्रसिद्ध वकील जो देशद्रोहियों, हिंदू विरोधियों का केस लड़ते हैं। ऐसे कपिल सिबल ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय में धर्म संसदों पर रोक लगाने के लिए एक याचिका दायर की थी। सवाल उठाया कि इतने बड़े वकील इतने महंगे वकील को फीस कौन दे रहा है। कहां से इतने रुपए की फंडिंग हो रही है। कपिल सिब्बल सदैव ही हिंदू विरोधी ताकतों के साथ में क्यों खड़े होते हैं। यह वही कपिल सिब्बल हैं जिन्होंने भगवान राम के अस्तित्व पर सवाल उठाए थे और भगवान को काल्पनिक बताया था। रामसेतु को तोड़ने के लिए वकालत की थी। इस व्यक्ति के पीछे से कौन लोग सपोर्ट कर रहे हैं, कौन लोग इतना रुपए खर्च कर रहे हैं इसकी भी जांच होनी चाहिये।

Leave a Comment

error: Content is protected !!