बिग ब्रेकिंग : जितेन्द्र त्यागी की रिहार्ई तक जल ग्रहण नहीं करेंगे यति नरसिंहानंद

-हरिद्वार आते हुए पुलिस ने नारसन बार्डर पर किया गिरफ्तार

-गिरफ्तार से नरसिंहानंद ने सर्वानंद घाट पर बैठने का लिया निर्णय

-जितेन्द्र त्यागी के जेल से बाहर आने पर ही करेंगे जल ग्रहण

दैनिक समाचार, हरिद्वार

धर्म संसद में हेट स्पीच देने के आरोपी वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी को हरिद्वार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।  उत्तरप्रदेश बॉर्डर नारसन के पास हरिद्वार आते हुए जितेन्द्र को गिरफ्तार किया गया।  कई घंटों की पूछताछ के बाद रिजवी को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है। इधर, यति नरसिंहानंद ने बड़ा एलान कर दिया है। जितेन्द्र त्यागी की रिहाई होने तक जल त्यागने की घोषणा कर दी है। जिससे इस मुदृदे को और हवा मिल सकती है। विगत दिनों हरिद्वार के वेद निकेतन में हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में रिजवी के खिलाफ पुलिस ने दो अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए थे। जबकि मुस्लिम महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में यति नरसिंहानंद के खिलाफ गुरुवार को ही तीसरा मुकदमा दर्ज हुआ है। बताया जा रहा है कि यति नरसिंहानंद और वसीम रिजवी आज हरिद्वार आ रहे थे। कोरोना के मामले को देखते हुए मकर संक्रांति का स्नान को लेकर पुलिस नारसन बॉर्डर पर चेकिंग कर रही थी। उसी दौरान यति नरसिंहानंद और वसीम रिजवी की गाड़ी को नारसन बॉर्डर पर रोका गया। जिसके बाद पुलिस ने जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस रिजवी को लेकर हरिद्वार पहुंची। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह और सीओ सिटी शेखर सुयाल ने बंद कमरे में वसीम रिजवी से कई घंटों तक पूछताछ की। इसके बाद वसीम रिजवी को मेडिकल के लिए •ोज दिया गया। डीआइजी गढ़वाल करण सिंह नगन्याल ने बताया कि वसीम रिजवी को गिरफ्तार किया गया है। मेडिकल कराने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि वसीम रिजवी ऊर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी के साथ जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर एवं गाजियाबाद के डासना स्थित देवी मंदिर के महंत स्वामी नरसिंहानंद गिरी उनके साथ मौजूद थे। लेकिन उनकी गिरफ्तारी कुछ कानूनी कारणों से नहीं हुई है। वहीं, यति नरसिंहानंद गिरी ने बड़ा एलान कर दिया है। ​वसीम रिजवी उर्फ जितेन्द्र त्यागी की रिहाई होने तक जल नहीं ग्रहण की बात कही है।
बता दें कि 11 दिसंबर को हरिद्वार में हुए धर्म संसद में एक संप्रदाय विशेष के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाते हुए हरिद्वार ज्वालापुर निवासी गुलबहार नामक व्यक्ति ने हरिद्वार कोतवाली में धारा 153 ए के तहत वसीम रिजवी व अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!