ज्वालापुर विधानसभा में बड़ा उलटफेर: कांग्रेस से नाराज सनातन साइकिल पर सवार हुए

स्वैच्छिक सेवानिवृति लेकर जनता के बीच लंबे समय से कर रहे थे जनसेवा
कांग्रेस ने बरखा रानी को टिकट दिया, कार्यकर्ताओं ने मैदान में उतरने को कहा
बदले सियासी घटनाक्रम के तहत पूर्व आईएफएस सनातन का दांव कईयों को करेगा असहज

प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में सपा की सदस्यता ग्रहण करते सनातन सोनकर

दैनिक समाचार, देहरादून/ हरिद्वार: हरिद्वार जनपद के ज्वालापुर सीट से कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से नाराज पूर्व आईएफएस सनातन सोनकर ने कांग्रेस का दामन छोड़कर साइकिल की सवारी शुरू करने का मन बना लिया है। ज्वालापुर विधानसभा में अचानक बदले घटनाक्रम के तहत सनातन सोनकर ने समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है। उनके मन में कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने का ​मलाल है। उनका कहना है कि जब क्षेत्र में कोई नेता सक्रिय नहीं था, तभी उन्होंने आईएफएस जैसी नौकरी को छोड़कर जनता की सेवा करने के मन से ज्वालापुर में उतरे। कांग्रेस में सभी स्तरों से उन्हें आश्वासन दिया गया लेकिन ​टिकट बंटवारे में छल किया गया। चूंकि वे जनता के बीच अपने नौकरी के दौरान भी जुड़े रहे और राजनीति में आने के बाद भी वे सक्रिय रहे लिहाजा अपने समर्थकों से रायमशविरा लेकर वे चुनाव मैदान में उतर रहे हैं। हरिद्वार में इसके साथ ही कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने भी समाजवादी पार्टी का दामन थामा है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ एस एन सचान ने बताया कि जल्दी ही कई और बड़े नेता हरिद्वार में पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं।

सीनियर आइएफएस सनातन सोनकर ने अपने कार्यकाल पूरा करने से पहले ही जनता की सेवा का भाव मन में रखते हुए वीआरएस ले लिया था। सोच विचार के बाद वे कांग्रेस के हाथ के साथ जुड़ गए। ज्वालापुर सुरक्षित सीट से अपने भाग्य आजमाने को लेकर वे लगातार क्षेत्र में प्रयासरत रहे लेकिन कांग्रेस ने इस क्षेत्र से बरखा रानी पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष को टिकट दे दियाा। चूंकि सनातन सोनकर पहले ही यह तय करके आ चुके थे कि वे अपनी स्वैच्छिक सेवानिवृति इसलिए ले रहे हैं कि उन्हें जनता की सेवा करनी है। ऐसे में टिकट नहीं मिलने और कार्यकर्ताओं से मंथन के बाद उन्होंने सपा की साइकिल के सहारे चुनाव मैदान में खम ठोंकने की तैयारी कर ली है। जाहिर है उनकी नाराजगी कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं से है। ऐसे में ज्वालापुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस को सनासन सोनकर की उम्मीदवारी बड़ा चोट दे सकती है। बताते चलें कि 2016 से लेकर 2019 तक सनातन सोनकर राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक पद पर भी तैनात रहे हैं और उन्होंने राजाजी टाइगर रिजर्व से लगते ज्वालापुर, हरिद्वार और रानीपुर के क्षेत्र में लोगों से बहुत अच्छा संवाद पूर्व से रहा है। इस मौके पर प्रदेश महासचिव अनिल कुमार, प्रदेश प्रवक्ता अजय सोनकर, डॉ. कदम सिंह बालियान, प्रदेश सचिव वीरेंद्र सिंह, कार्यालय प्रभारी ज्ञानचंद यादव उपस्थित रहे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!