‘धार’ और ‘लय’ में दिखे राहुल, उत्तराखंड में हाई कर गए ‘जोश’

BY NAVEEN PANDEY

उद्यमसिंहनगर जिले में सबसे बड़े वोट बैंक किसानों को साधने की कोशिश
हरिद्वार में कुंभ, कोविड और बेरोजगारी सहित अन्य मुदृदों को छूकर बरसे
किच्छा से हरिद्वार तक मोदी पर बरसे और बरसते ही रहे राहुल गांधी

दैनिक समाचार, हरिद्वार: उत्तराखंड में कांग्रेस की चुनावी मैदान को और ‘धार’ देने को राहुल पूरी ‘लय’ में दिखे। मोदी पर बार—बार जमकर बरसे। चेहरे पर मुस्कान लिए बोले, ‘उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बन रही है।’ कार्यकर्ताओं के मेहनत की तारीफ की और चुनाव में खून—पसीना एक करने का जोश भरा। ये भी ताकीद कर गए कि सीएम कोई बने हर कार्यकर्ता के लिए दरवाजा खुला रहेगा। संकेत ये देने की कोशिश की कांग्रेस की सरकार बनी तो सीएम कार्यकर्ताओं की भी सुनेंगे। राहुल गांधी मोदी को अमीरों और पूंजीपतियों की सरकार करार देने से नहीं चुके। गरीबी—बेरोजगारी सहित आम मुदृदों को छूकर कांग्रेस को ‘आमजन’ के करीब होने का संकेत दिए।

राहुल गांधी ने उत्तराखंड की भौगोलिक स्थिति और वोटरों को भांपते हुए भी जनसभा को संबोधित किया। उद्यमसिंहनगर के किच्छा यानि तराई बेल्ट में किसान बड़ा वोट बैंक है तो वहां किसानों से ही रैली की शुरूआत कराई और तीन काले कानून पर मोदी सरकार को जमकर घेरा तो यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान किसानों की दशा को लेकर विस्तार से बातें कही। धर्मनगरी हरिद्वार आएं तो पन्द्रह लाख खाते में डालने के झूठे वायदे, नोटबंदी जैसे निर्णय पर मोदी को खूब घेरा तो कोविड, महाकुंभ घोटाला, रोजगार पर केन्द्रित अपने भाषण को रखते हुए जनता से बदलाव की मांग की। राहुल हरकी पैडी आरती करने पहुंचे। संदेश साफ था कि वे हिंदू हैं और हिन्दुत्व की राजनीति भी करते हैं।

उत्तराखंड में चौदह फरवरी को मतदान है। पार्टियों के दिग्गज नेता वचुर्अली रैली से जनता को संबोधित कर रहे हैं। अपनी बात और घोषणा पत्र का जिक्र कर रहे हैं। कांग्रेस ने दो दिन पहले ही उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में प्रियंका गांधी के हाथों घोषणा पत्र जारी कराया। दो दिन बाद ही राहुल गांधी ने मोर्चा संभाल लिया और कांग्रेस की नीति वाली सरकार का जिक्र करते हुए मोदी सरकार से तुलना भी की। मोदी सरकार पर उद्यमसिंहनगर और हरिद्वार में जमकर प्रहार किया। मोदी को राजा का हित देखने वाला करार दिया जबकि कांग्रेस की सरकार में व्यापारी, किसान, युवाओं के साथ मिलकर पार्टनशिप की सरकार चलाने का नया दांव खेल दिया। कोविड में एक साल तक सरकार तक सरकार को दबड़े में कैद रहने का इल्जाम भी जड़ा। महाकुंभ में कोविड घोटाला करने को लेकर प्रदेश और केन्द्र की सरकार को जमकर घेरा। राहुल ने किसान, युवा, बेरोजगार, व्यापारी सभी को अपने संबोधन में समेटने की कोशिश की। हरिद्वार में सभा को संबोधित करते हुए उनका कांफिडेंशन बेहद ‘हाई’ दिखा। तभी वे यहां बोल गए ‘उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार आ रही।’ राहुल गांधी ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर बार-बार प्रहार किया और एक देश में दो हिन्दुस्तान बनाने का आरोप भी जड़ा। मनमोहन सिंह की सरकार को बेहतरीन कार्यकाल वाला बताया और उस वक्त देश की स्थिति की याद दिलाई। राहुल कार्यकर्ताओं में जोश भर गए। संकेत ये भी दे दिए कि खून-पसीना बहाना है यानि ढीला नहीं पड़ना है फतह तभी होगी। उत्तराखंड में कांग्रेस के दो सबसे बड़े नेताओं के आगमन और वचुर्अली प्रदेश के सभी जिलों से जुड़ने के बाद कांग्रेस का जोश ‘हाई’ दिख रहा है। हालांकि जनता ने अपने दिल में किसे जगह दी है यह तो परिणाम ही तय करेगा। फिलहाल मोदी को कठघरे में खड़ा करने और भाषणों से जनता के दिलों में ‘घर’ बनाने में राहुल कितना कामयाब रहे ये वक्त की दहलीज तय करेगी।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!