बिग ब्रेकिंग हरिद्वार: दलबदल का दौर जारी साइकिल से उतर सपा प्रत्याशी ने की हाथी की सवारी

-बसपा पार्टी को समर्थन देने के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है


दैनिक समाचार, हरिद्वार

हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ रहे साजिद अंसारी सपा का दामन छोड़ हाथी पर सवार हो गए हैं। चुनाव के बीच उनका अचानक साइकिल का दामन छोड़कर बसपा के खेमे में जाने से राजनीतिक परिदृश्य यकायक बदल गया है।

बसपा साजिद के आने से मजबूत होती दिख रही है। वहीं, यदि मुस्लिम वोट बैंक किसी एक दल की ओर सरका तो ये भाजपा के प्रत्याशी स्वामी यतीश्वरानंद के लिए ज़्यादा खतरे की घंटी हो सकती है क्योंकि मुस्लिम वोट का एक तरफ झुकाव स्वामी यतीश्वरानंद से विधायकी का ताज छीन सकती है। 

समाजवादी पार्टी ने साजिद अंसारी को हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा सीट से प्रत्याशी घोषित किया था पूर्व में भी साजिद अंसारी समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष रह चुके हैं। कहीं ना कहीं समाजवादी पार्टी का उत्तराखंड में सियासी दखल मजबूत नहीं होने के कारण साजिद अंसारी ने सपा छोड़ने का मन बनाया और हरिद्वार ग्रामीण में मुस्लिम मतदाताओं को बहुजन समाज पार्टी की ओर खींचने की कोशिश की है।

अब ये तस्वीर साफ होती दिख रही कि साजिद अंसारी के समाजवादी पार्टी को छोड़कर बसपा पार्टी को समर्थन देने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी अनुपम रावत को भी बड़ा झटका है।

बात करें कुछ दिन पूर्व की तो कांग्रेस के युसूफ अंसारी ने भी कांग्रेस से त्यागपत्र देकर बसपा का दामन थामा था। जिसे कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना गया था क्योंकि कांग्रेस भी मुस्लिम वोटर पर अपना सियासी अधिकार जताती रही है लेकिन अब साजिद अंसारी के बसपा में जाने के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों की मुश्किलें बढ़ती दिख रही है।

फिलहाल के बदले घटनाक्रम को लेकर सियासत के जानकार बताते हैं कि यदि मुस्लिम वोट एक तरफ डाइवर्ट हुआ तो स्वामी यतीश्वरानंद सीट पर कमजोर पड़ जाएंगे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!