‘हरदा’ की त्रिवेन्द्र को लेकर सहानुभूति, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री के बयानों ने बीजेपी की ताबूत पर आखिरी कील ठोंक दी

त्रिवेन्द्र को लेकर कहा, पौने चार साल सीएम रहने के बाद अचानक बेवजह हटाने अपमानजनक
60 सीटों के फीडबैक के आधार पर कांग्रेस की सरकार प्रदेश में बनने का कर रहा हूं दावा

दैनिक समाचार, देहरादून: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को लेकर काफी सहानुभूति फिर से दिखाई है। हरीश रावत ने कहा कि पौने चार साल मुख्यमंत्री रखने के बाद अचानक त्रिवेन्द्र सिंह रावत को हटा देना कहां तक उचित है। ‘हरदा’ ने उन पर गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री के बयान पर कहा कि भाजपा के इन केन्द्रीय मंत्रियों के बयान ने ही उनके ताबूत में आखिरी कील ठोक दी। फिर दोहराया कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाने जा रही है। कहा कि अल्मोड़ा लोकसभा सीट और हरिद्वार लोकसभा सीट के नतीजे निसंदेह चौंकाने वाले होंगे। मुख्यमंत्री ​पुष्कर सिंह धामी के दिल्ली से देहरादून लौटने के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के आवास पर जाकर मुलाकात करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का बयान आया है।


देहरादून में आयोजित पार्टी के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह को लेकर काफी नरम रुख अपनाया। कहा कि बीजेपी ने त्रिवेन्द्र सिंह रावत के साथ अपमानजनक व्यवहार किया। यहां तक की उनके करीबियों को भी निशाना बनाया गया। बीजेपी ने टिकट वितरण के दौरान त्रिवेन्द्र के सभी करीबियों के टिकट काटे। एक सवाल के जवाब में कहा कि मैंने 44 विधानसभा क्षेत्रों में रैलियां की और 22 पदयात्राएं की। करीब 60 विस क्षेत्रों का मेरा फीडबैक यही कहता है कि जनता का आशीर्वाद कांग्रेस के साथ है। कहा कि गृह मंत्री अमित शाह का मेरे पर घर का न घाट का टिप्प्णी और रक्षा मंत्री के तीन सीएम बदले या तीस वाले मनमाने तरीके दिए गए बयान ने भाजपा के ताबूत पर आखिरी कील भी ठोक दी थी। रावत ने कहा कि कांग्रेस ने घोषणापत्र पर ईमानदारी से काम करेगी।

—————————

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!