यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के बाशिंदों की सकुशल वापसी को नोडल अफसर तैनात, हेल्पलाइन नंबर जारी

मुख्यमंत्री ने एनएसएस प्रमुख सुनील डोभाल से की बातचीत
प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों और एसएसपी को भेजा गया पत्र
डीजीपी, अपर मुख्य सचिव सहित अफसरों के ​साथ हुई बैठक

दैनिक समाचार, देहरादून: रूस-यूक्रेन में युद्ध की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यूक्रेन में रह रहे उत्तराखण्ड के लोगों की सुरक्षा के संबंध में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से बात की है। वहीं, सरकर ने यूक्रेन में निवासरत उत्तराखंड के लोगों की सुरक्षा को लेकर नोडल अधिकारी की तैनाती करते हुए नंबर भी जारी किए हैं।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अजीत डोभाल से फोन से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने बताया कि श्री डोभाल की ओर से देश लौटने के इच्छुक भारतीयों की सुरक्षित वापसी के लिए हर सम्भव प्रयास का भरोसा दिया गया है। इस बीच, उत्तराखण्ड के लोगों की सुरक्षा को लेकर सीएम ने अधिकारियें के साथ समीक्षा बैठक की। सीएम ने अधिकारियों को विदेश मंत्रालय से लगातार संपर्क में रहने की बात कही। बैठक में अपर मुख्य सचिव आनंदबर्द्धन, एडीजी संजय गुन्ज्याल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहें। बैठक के बाद यूक्रेन में निवासरत उत्तराखण्ड के लोगों की सुरक्षा के संबंध में उनके परिजनों से प्राप्त हो रही जरूरी सूचनाओं के संकलन के लिये पुलिस महानिरीक्षक पी. रेणुका देवी (मोबाईल नम्बर 7579278144) और पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार (मोबाईल नम्बर 983778889) को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। जारी किए गए टोल फ्री नम्बर 112 पर अभी तक यूक्रेन में निवासरत 95 लोगों के परिजनों ने संपर्क स्थापित किया है।

विदेश मंत्रालय की टीमें यूक्रेन से लगी सीमाओं पर है तैनात
मुख्‍यमंत्री धामी ने बताया कि भारत ने यूक्रेन के राष्‍ट्रपति को वहां फंसे 1500 भारतीय छात्रों की जानकारी दी है। ये छात्र यूक्रेन के विभिन्‍न इलाकों में फंसे हुए हैं। यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को निकालने में सहायता के लिए हंग्री, पोलैंड, स्‍लोवाकिया और रोमानिया से विदेश मंत्रालय की टीमें यूक्रेन के साथ लगी सीमाओं के रास्ते पर हैं

यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के लोगों के संबंध में पुलिस विभाग की ओर से जारी किए किए गए कंट्रोल रूम नंबर 112 व अन्य हेल्पलाइन नंबरों पर 95 लोगों की जानकारी दर्ज हुई है। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि यूक्रेन में फंसे अब तक 95 लोगों की जानकारी मिल गई है। विभिन्न माध्यमों से भी यूक्रेन में फंसे लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। सभी को सकुशल लाने का प्रयास जारी है। परिजनों को धैर्य बनाए रखने की जरूरत है।

प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ भी चिंतित
प्रांतीय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवा संघ ने सरकार से यूक्रेन में फंसे सभी छात्रों की सकुशल वापसी की मांग की है। प्रांतीय अध्यक्ष डाक्‍टर मनोज वर्मा का कहना है कि दून के कोरोनेशन अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ डाक्‍टर डीपी जोशी के पुत्र अक्षत जोशी, जिला अस्पताल रुद्रपुर में बाल रोग विशेषज्ञ डाक्‍टर एसके गोस्वामी की बेटी हर्षिता यूक्रेन में एमबीबीएस कर रहे हैं। पौड़ी के एसीएमओ एवं संगठन के महासचिव डा. रमेश कुंवर का भांजा सूर्यांश बिष्ट भी यूक्रेन में एमबीबीएस कर रहा है। डाक्‍टर वर्मा ने कहा कि वर्तमान स्थिति में छात्रों की सुरक्षा एक बड़ी चिंता है।

सकुशल वापसी को मां गंगा से कामना
हरिद्वार: विश्व में शांति कायम रहे और यूक्रेन में फंसे छात्रों और नागरिकों की सकुशल वापसी हो सके इसे लेकर सामाजिक कार्यकर्ता और महानगर व्यापार मंडल ने मां गंगा से कामना की।
सामाजिक कार्यकर्ता महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी ने साथियों सहित मां गंगा में पुष्प अर्जित कर प्रार्थना करते हुए विश्व में शांति की कामना की और यूक्रेन में फंसे सभी नागरिकों की रक्षा की। फंसे छात्रों—नागरिकों की सकुशल वापसी की कामना मां गंगा से करते हुए सेठी ने कहा कि युद्ध किसी समस्या का हल नहीं हो सकता। बातचीत से हर बड़ी से बड़ी समस्या हल हो सकती है। युद्ध के दुष्परिणाम सम्पूर्ण विश्व को भुगतने पड़ेंगे। हम सभी देश के प्रधानमंत्री से अपील करते है कि ठोस नीति के साथ जल्द से जल्द फंसे नागरिकों छात्रों को सकुशल वापसी के लिए हर सम्भव प्रयास किए जाएं। प्रार्थना करने वालों में मुख्य रूप से खड़खडेश्वर व्यापार मंडल अध्यक्ष राजेश सुखीजा,महानगर अध्यक्ष जितेंद्र चौरसिया, नाथीराम सैनी,भूदेव शर्मा, एस एन तिवारी,ईश्वर तिवारी,सुरेंद्र शर्मा,पंकज शर्मा, बंटी कुमार, अतुल कुमार,विनोद गिरी, धर्मपाल प्रजापति , मनीष धीमान, गणेश शर्मा उपस्थित रहे।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!