यूक्रेन को लेकर केन्द्र और प्रदेश सरकार पर कांग्रेस का हमला

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा, केन्द्र सरकार को देश को करना चाहिए आश्वास्त
प्रदेश प्रवक्ता कांग्रेस गरिमा ने कहा, यह बेहद शर्मनाक की सरकार के पास डेटा नहीं

दैनिक समाचार, देहरादून: यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के बाशिंदों को लेकर कांग्रेस ने केन्द्र और प्रदेश सरकार को घेरा है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केन्द्र सरकार को इस ओर देशवासियों को आश्वस्त करने की बात कही है तो प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को कुंभकर्णी नींद में सोए रहने का आरोप लगाया है।यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के बाशिंदों को निकाले को लेकर दो दिन से तेज की गई है। उत्तराखंड की सरकार की कवायद पर कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता गरिमा ने जोरदार हमला बोला है।

गरिमा ने कहा कि केन्द्र सरकार ने यूक्रन को लेकर देरी से एडवाइजरी जारी की है और उत्तराखंड की सरकार ने तो हद ही कर दी। प्रदेश सरकार दूतावास से संपर्क नहीं कर पाई है। एक दिन पहले एनएसए प्रमुख अजीत डोभाल से बातचीत मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कही है जबकि 15 दिन पहले से यूक्रेन की हालत चिंताजनक बनी हुई है। उत्तराखंड के परिजन जिनके लाल यूक्रेन में फंसे हुए हैं वो चिंतित हैं, बेहाल है। लेनिक प्रदेश की सरकार 15 घंटे के भीतर तक पूरा डेटा नहीं जुटा पाई है। इससे बड़ी शर्मनाक स्थित प्रदेश सरकार के लिए क्या हो सकती है। वहीं, उत्तरप्रदेश में चुनावी प्रचार करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी यूक्रेन को लेकर गहरी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में भारत सरकार निश्चित तौर पर बातचीत कर रही होगी, लेकिन प्रधानमंत्री को देशवासियों को आश्वस्त करना चाहिए कि वहां फंसे नागरिकों को निकालने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं। कुछ हफ्तों से तो स्पष्ट लग रहा था कि युद्ध होगा। ऐसी स्थिति में भारतीय नागरिकों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर ले जाना, केंद्र सरकार का पहला दायित्य था। उत्तरखंड के भी तमाम छात्र वहां अध्ययन करने गए हैं, वह भी फंसे हैं।

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!