विद्युत कर्मी की करंट लगने से मौत, हंगामा कर नौकरी और मुआवजा देने की मांग की

-जबतक विद्युत विभाग इन मांगों को नहीं मान लेता परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार

दैनिक समाचार, हरिद्वार : ज्वालापुर क्षेत्रांतर्गत स्थित विद्युत गृह के यार्ड में बीती रात मृत अवस्था में मिले विद्युत कर्मी के परिजनों ने भीम आर्मी के लोगों के साथ जिला चिकित्सालय पर हंगामा किया। परिजन और भीम आर्मी के लोग मृतक के परिजन को नौकरी और मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं। जबतक विद्युत विभाग इन मांगों को नहीं मान लेता परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया है।खंजरपुर रुड़की का रहने वाला 35 वर्षीय हरिराम बिजली विभाग में संविदा पर कार्यरत था। बीती देर रात ज्वालापुर स्थित बिजली घर के यार्ड में उसका शव पड़ा मिला। उसके हाथ पर करंट लगने के भी निशान साफ नजर आए। इस सूचना पर तत्काल उसे जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद उसके शव को पीएम के लिए भेज दिया। परिजन भीम आर्मी के लोगों के साथ जिला चिकित्सालय पहुंचे और जमकर हंगामा किया। परिजनों का कहना था की हरिराम के पीछे पूरा परिवार है। इसलिए उसकी मौत के बाद परिवार के एक सदस्य को विभाग में नौकरी और विद्युत कर्मी की तरह मुआवजा दिया जाए। हंगामे की सूचना पर विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।  परिजनों की दोनों मांग पर अफसरों ने हामी नहीं भरी है। इस कारण परिजनों ने शव का पीएम नहीं होने दिया है। एसडीओ ज्वालापुर नीरज कुमार का कहना है कि परिजन अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं, जिसके चलते अभी पीएम नहीं हो पाया है। हम तो जो सरकारी मुआवजा है उसी के लिए हामी भर सकते हैं। इस मामले की जांच के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!