योगाचार्य अर्चना ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर तनाव से बचने की दी टिप्स

-हरिद्वार शहर में विभिन्न स्थानों पर योग के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया

दैनिक समाचार, हरिद्वार

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष पर ओम आरोग्यम योग मंदिर द्वारा योगी रजनीश के सानिध्य में हरिद्वार शहर में विभिन्न स्थानों पर योग के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।  साथ ही महिलाओं को सम्मान-पत्र देकर सम्मानित भी किया गया। मुख्य रूप से महिलाओं के लिए आयोजित किए गए इन योग के कार्यक्रमों का आयोजन पुलिस लाइन रोशनाबाद, एकमस फार्मास्यूटिकलय सिडकुल और रॉयल पब्लिक स्कूल बहादराबाद में किया गया। योगी रजनीश ने सभी महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाए देते हुए कहा की आज की महिला केवल घर तक सीमित नहीं है अपितु घर के साथ-साथ वह बाहर की जिम्मेदारियां भी बखूबी निभा रही है ऐसे में विभिन्न रोगों तथा तनाव से ग्रसित होना एक आम बात हो गई है। महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के ऊपर भी ध्यान देना अत्यंत आवश्यक है इन्हीं सब को देखते हुए आज हमने महिलाओं के लिए योग के कार्यक्रमों का आयोजन किया है जिससे महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जा सके तथा योग से होने वाले लाभों से भी अवगत कराया जा सके।

पुलिस लाइन में आयोजित कार्यक्रम के अंतर्गत योगी रजनीश जी ने सभी को विभिन्न योगासनों के साथ-साथ प्राणायाम ध्यान तथा अन्य योगिक क्रियाएं बतायी जिसके द्वारा आसानी से स्वयं को स्वस्थ रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमारा पुलिस विभाग दिन-रात जनता की सेवा के लिए बिना आराम किए सदैव तत्पर रहता है अतः उन्हें अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना अत्यंत आवश्यक है और यदि वह महिलाएं हैं तो उनकी जिम्मेदारी दुगनी हो जाती है उन्हें अपने घर का भी ध्यान रखना होता है और नागरिकों की सुरक्षा का भी ध्यान रखना होता है। सिडकुल में स्थित एकमस फार्मास्यूटिकल कंपनी में भी आज योग का कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसको योगाचार्य अर्चना ने संचालित किया। योगाचार्य अर्चना ने वहां कार्यरत महिलाओं को तनाव को दूर करने से संबंधित विभिन्न जानकारियां दी। साथ ही उन्होंने वहां कार्यरत सभी महिलाओं को सरल आसन, प्राणायाम आदि कराएं जिससे तनाव से उत्पन्न होने वाली समस्याएं जैसे सर्वाइकल, रक्तचाप, माइग्रेन आदि से बचा जा सके। रॉयल पब्लिक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में योगी रजनीश जी ने कहा कि घर-परिवार तथा कार्यक्षेत्र में संतुलन करते-करते महिलाएं अक्सर अपने स्वास्थ्य की उपेक्षा करने लगती हैं जिससे उन्हें मानसिक, शारीरिक समस्याएं के साथ ही हार्मोनल समस्याएं भी होने लगती है जिससे थायराइड , मोटापा, तनाव आदि हो सकता है। आगे योगी रजनीश ने कहा कि मन, शरीर और आत्मा के संतुलन को बनाए रखने के लिए योगाभ्यास करना आवश्यक है। यह जीवन के सभी पहलुओं में संतुलन लाने में मदद करता है। स्वस्थ तन और मन से महिलाएं अपना और परिवार का भी अच्छे से ख्याल रख सकती हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!