इन्हें मिली है मुख्यमंत्री और मंत्रियों के चेहरे तय करने की जिम्मेदारी

भाजपा संसदीय बोर्ड ने चारों राज्यों के लिए पर्यवेक्षक और सह-पर्यवेक्षकों को नियुक्त किया
उत्तराखंड में रक्षा मंत्री राजनाथ और यूपी में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को अहम जिम्मेदारी

दैनिक समाचार, देहरादून: भाजपा के संसदीय बोर्ड ने सोमवार को उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश, मणिपुर और गोवा में पार्टी विधायक दल के नेता के चुनाव के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक एवं सह पर्यवेक्षकों की नियुक्त कर दिया गया है। केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को उत्तराखंड के पर्यवेक्षक की जिम्‍मेदारी दी गई है जबकि केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी को उत्‍तराखंड का सह-पर्यवेक्षक नियुकत् किया गया है। अबकी जिन पर्यवेक्षकों की उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश में तैनाती की गई है, वह न केवल केन्द्रीय मंत्री है बल्कि मोदी के सबसे अजीज और राजनीतिक और कूटनीति में हर वक्त साथ रहने वाले मंत्री है। इसलिए मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रियों तक के चयन में इनकी छाप साफ दिखाई देगी और कहीं कुछ मंत्रियों के चयन में नाराजगी के स्वर भी फूटते हैं तो यह उसे संभालने में पूरी तरह से सक्षम होंगे।

उत्तराखंड में सरकार गठन की जिम्मेदारी केन्द्रीय रक्षा मंत्री और केन्द्रीय राज्य मंत्री को सौंप दी गई है। होली यानि 18 मार्च के बाद संभव है ​कि 19 मार्च को विधायक दल के नेता का चुनाव कर लिया जाए और 20 मार्च को नई सरकार के मुखिया सहित कुछ मंत्री शपथ ले लें। होलाष्टक की वजह से कोई भी शुभ कार्य 18 मार्च तक नहीं हो सकता है। इसलिए बीजेपी ने जीत के बाद किसी भी राज्य में सरकार बनाने की जल्दबाजी नहीं की है। उत्तरप्रदेश में भी योगी सरकार पर मुहर तो अनौपचारिक रूप से लग ही चुकी है, वहां पर सरकार गठन होली के बाद संभव है।
उत्तरप्रदेश में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पर्यवेक्षक और सह पर्यवेक्षक के रूप में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की तैनाती की गई है। केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण को मणिपुर का पर्यवेक्षक नियुक्‍त किया गया है जबकि किरेन रिजिजू मणिपुर के सह-पर्यवेक्षक होंगे। इसी तरह नरेंद्र सिंह तोमर को गोवा के पर्यवेक्षक की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। केंद्रीय मंत्री एल. मुरुगन गोवा के सह-पर्यवेक्षक की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। सभी पर्यवेक्षक नई सरकार के गठन में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

बीजेपी को कहां कितनी मिली है सीट
भाजपा ने उत्तराखंड में 70 सीटों पर 47 सीट हासिल की है जबकि कांग्रेस को 19 सीट पर संतोष करना पड़ा। यूपी में सहयोगियों के साथ मिलकर 403 विधानसभा सीटों में से 273 पर जीत पर भगवा लहराया है जबकि समाजवादी पार्टी को 111 सीटें मिली हैं। गोवा की 40 विधानसभा सीटों में से भाजपा को 20 सीटें हासिल हुई हैं। मणिपुर की 60 विधानसभा सीटों में से भाजपा ने 32 सीटों पर जीत दर्ज की है।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!