वीडियो वायरल होने के बाद सुर्खियों में प्रदीप के घर आखिर क्यों पहुंचे अधिकारी 

-अल्मोड़ा प्रशासन की टीम भी प्रदीप के गांव पहुंची और उसके पिता से मुलाकात की
-आज हर युवा को प्रदीप से प्रेरणा लेनी चाहिए
-उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया ब्लाक के ढनाड़ गांव निवासी 19 वर्षीय प्रदीप मेहरा बेहद गरीब परिवार से है

दैनिक समाचार, देहरादून नोएडा की सड़कों पर दौड़ते अल्मोड़ा के प्रदीप का नाम आज हर जुबां पर है। वीडियो वायरल होने के बाद प्रदीप सुर्खियों में बना हुआ है और लोग प्रदीप के संघर्ष को सलाम कर रहे हैं। प्रदीप ने वीडियो में अपने संघर्ष की जो बातें सांझा की है, वाकई में वह काबिलेतारीफ है और आज हर युवा को प्रदीप से प्रेरणा लेनी चाहिए। पहाड़ के इस युवा का वीडियो वायरल होने के बाद  अल्मोड़ा प्रशासन की टीम भी प्रदीप के गांव पहुंची। जहां उन्होंने प्रदीप के पिता से मुलाकात की। उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के चौखुटिया ब्लाक के ढनाड़ गांव निवासी 19 वर्षीय प्रदीप मेहरा बेहद गरीब परिवार से है। गरीबी का आलम यह था कि 12वीं के बाद प्रदीप के माता-पिता उसे आगे पढ़ा नहीं पाए और वह नोएडा में एक निजी कंपनी में काम कर अपने सपने पूरे करने के लिए जुट गया। प्रदीप ने राजकीय इंटर कालेज तड़ागताल से 12वीं पास की। जिसके बाद वह बीते वर्ष निजी कंपनी में नौकरी के लिए नोएडा रवाना हो गया। वहां उसका बड़ा भाई पंकज मेहरा पहले से ही एक निजी कंपनी में काम कर रहा था। दोनों साथ में नौकरी कर परिवार का भरण-पोषण करने लगे। प्रदीप के पिता त्रिलोक सिंह मेहरा धनाड़ गांव में ही रहते हैं। वह काफी निर्धन है। वहीं उनका पैतृक आवास आपदा से क्षतिग्रस्त हो गया है। वहां अब कोई नहीं रहता। वर्तमान में वह इंदिरा आवास में बने एक मकान में रहते हैं। प्रदीप की मां बीना मेहरा बीते दो साल से बीमार हैं। एक साल से वह दिल्ली के नागलोई में अपनी बहन के साथ रह रही हैं। जहां रहकर वह अपना इलाज करवा रही हैं। त्रिलोक सिंह को उनके बेटे प्रदीप का वीडियो इंटरनेट मीडिया में वायरल होने की जानकारी उनके आस पास के लोगों ने दी। इस खबर को सुनने के बाद उन्होंने कहा कि उनके बच्चों का भला हो। वह कुछ बन जाएं, यही वह चाहते हैं। जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार चौखुटिया हेमंत मेहरा व राजस्व उपनिरीक्षक शेखर आर्य मंगलवार को प्रदीप के गांव ढनाड़ पहुंचे। जहां उन्होंने प्रदीप के पिता से मुलाकात की और उनकी समस्याओं के बारे में जाना। तहसीलदार हेमंत मेहरा ने बताया कि प्रदीप के घर में बिजली, पानी सभी तरह की व्यवस्था है। उनकी माँ बीमार है जिनका इलाज चल रहा है। इसलिए प्रदीप के परिवार को आर्थिक मदद की दरकार है। उन्होंने बताया कि प्रदीप के पिता त्रिलोक सिंह मेहरा से इस संबंध में अर्जी ले ली गई है और साथ ही उच्चाधिकारियों को भी इस मामले से अवगत करा दिया गया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!