29 मार्च को चलने वाले सदन की कार्यसूची पर हुई चर्चा, सदन में होगी सकारात्मक चर्चा

-शपथ ग्रहण के बाद अभी तक किसी भी मंत्री को कोई भी विभाग नहीं दिया गया है

-अपनी दूसरी पारी में मुख्यमंत्री ऊर्जा, वित्त, गृह, कार्मिक सरीखे कई अन्य अहम विभाग अपने पास रख सकते हैं

दैनिक समाचार, देहरादून, उत्तराखंड के मूख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। 29 तारीख से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के लिए प्रेमचंद अग्रवाल को बड़ी जिम्मेदारी दी गई। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की मंजूरी के बाद विधायी एवं संसदीय कार्यों की जिम्मेदारी दी गई। विधानसभा सत्र के दौरान प्रेमचंद अग्रवाल विधायी एवं संसदीय कार्य का दायित्व निभाएंगे। शपथ ग्रहण के बाद अभी तक किसी भी मंत्री को कोई भी विभाग नहीं दिया गया है। वहीं विभागों के बंटवारे पर सभी की नजरें लगी हुई हैं। सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी वित्त, ऊर्जा और लोक निर्माण सरीखे अहम विभाग अपने पास रख सकते हैं। 

ये विभाग अपने पास रख सकते हैं धामी विभागों के बटवारे से पहले मुख्यमंत्री धामी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने लखनऊ चले गए। अब माना जा रहा है कि मंत्रियों के कामकाज पर मंथन हो सकता है। कुछ मंत्रियों के करीबी शनिवार को ही विभागों का आवंटन होने की संभावना जता रहे थे। ऊर्जा, आवास, शहरी विकास, आबकारी, औद्योगिक विकास, लोक निर्माण, सिंचाई, स्वास्थ्य, गृह, वित्त, कार्मिक सरीखे अहम विभागों में वरिष्ठ मंत्रियों की निगाह लगी है, लेकिन इस बार शायद ही उनकी मुराद पूरी हो पाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, अपनी दूसरी पारी में मुख्यमंत्री ऊर्जा, वित्त, गृह, कार्मिक सरीखे कई अन्य अहम विभाग अपने पास रख सकते हैं।

  • पांचवीं विधानसभा के प्रथम सत्र को लेकर बैठक आयोजित 
  • 29 मार्च से प्रारम्भ हो रहे उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के प्रथम सत्र के कार्य संचालन एवं विधायी कार्यों को लेकर आज नवनिर्वाचित उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण की अध्यक्षता में कार्य मंत्रणा की बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान कार्य मंत्रणा समिति के सदस्यों द्वारा सत्र के दौरान चलने वाली संसदीय कार्यवाही पर चर्चा की गई।

सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण के वित्तीय वर्ष का लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा
विधानसभा भवन देहरादून में आयोजित कार्यक्रम समिति की बैठक के दौरान संसदीय कार्य मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, विधायक खजान दास, बहुजन समाजवादी पार्टी के विधान मंडल दल के नेता हाजी शहजाद मौजूद रहे। बैठक के दौरान 29 मार्च को चलने वाले सदन की कार्यसूची पर चर्चा की गई। जिसमें तय किया गया कि सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण के साथ साथ पटल पर इस वित्तीय वर्ष का लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा। बैठक में तय किया गया कि आगे के उपवेशन के लिए कार्य मंत्रणा समिति की बैठक आहूत की जाएगी।

विधानसभा अध्यक्ष के रूप में पहली बार सदन को संचालित करना उनके लिए गौरवपूर्ण क्षण है
बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के रूप में पहली बार सदन को संचालित करना उनके लिए गौरवपूर्ण क्षण है साथ ही उनके लिए चुनौती भी है। उन्होंने सदन के सभी सदस्यों से शांतिपूर्वक एवं सुचारु रुप से संचालित करने के लिए सहयोग की अपेक्षा की है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के विकास एवं जनहित में उठाये गए मुद्दों पर सदन में सकारात्मक चर्चा होगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वह सत्ता पक्ष एवं विपक्ष के सभी सदस्यों को साथ लेकर समान अवसर प्रदान करेंगी।

कार्यपालिका पर नियंत्रण रखते हुए जनता का कल्याण कर सकते हैं
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जनता की आशाओं और अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए उनका प्रयास लोकतांत्रिक संस्था को सशक्त बनाना होगा। नीतियों और कानून के निर्माण तथा जनहित से जुड़े विषयों के लिए सदन को व्यापक चर्चा-संवाद का केंद्र बनाकर ही हम कार्यपालिका पर नियंत्रण रखते हुए जनता का कल्याण कर सकते हैं। इस अवसर पर विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल, विधायी  के प्रमुख सचिव हीरा सिंह बोनाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!