आखिर मंत्रियों के विभाग बंटवारे के बाद क्यों भड़के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

-धामी के पास महत्वपूर्ण गृह, कार्मिक, ऊर्जा, औद्योगिक विकास व खनन, आबकारी समेत 23 विभाग

-मंत्रियों में सबसे भारी भरकम विभाग कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को है मिला

वासुदेव राजपूत, दैनिक समाचार, देहरादून 
मंगलवार देर शाम धामी सरकार के मंत्रियों के विभाग बंटवारे की लिस्ट वायरल होने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी  आग बबूला हो गए। सीएम धामी ने अधिकारियों और कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई है और आगे से ऐसी गलती न होने की चेतावनी भी दी। बता दें कि मंगलवार देर रात मंत्रियों के विभागों के बंटवारे की सूची अधिकृत घोषणा से पहले ही सोशल मीडिया पर जारी हो गई और घोषणा से पहले ही लोगों तक ये लिस्ट पहुँच गई। जैसे ही सीएम धामी को इस बात की खबर लगी, मुख्यमंत्री धामी ने तुरंत ही अधिकारियों और कर्मचारियों को फटकार लगाते हुये चेतावनी दी की दुबारा ऐसी कोई गलती नहीं होनी चाहिए।

मंत्रियों को महकमे की सौंपी जिम्मेदारियां
मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के शपथ ग्रहण के बाद आखिरकार मंत्रियों को महकमे की जिम्मेदारियां सौंप दी है। धामी ने खुद के पास महत्वपूर्ण गृह, कार्मिक, ऊर्जा, औद्योगिक विकास व खनन, आबकारी समेत 23 विभाग रखे हैं। मंत्रियों में सबसे भारी भरकम विभाग कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को दिए हैं। मंगलवार देर रात भाजपा हाईकमान के ग्रीन सिग्नल के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने पोर्ट फोलियो गोपन विभाग के मार्फत राजभवन को मंजूरी के लिए भिजवाई।

सीएम पुष्कर सिंह धामी के पास रहेंगे ये विभाग
कार्मिक एवं अखिल भारतीय सेवाओं संस्थापना विषयक कार्य, जनसेवा सतर्कता, सुराज, भ्रष्ट्राचार उन्मूलन एवं जनसेव, सचिवालय प्रशासन, सामान्य प्रशासन, नियोजन, राज्य सम्पत्ति, सूचना गृह, कारागार, नागरिक सुरक्षा एवं होमगार्ड एवं अर्द्ध सैनिक कल्याण, राजस्व, औद्योगिक विकास एवं खनन, औद्योगिक विकास, श्रम, सूचना प्रौद्योगिकी, विज्ञान प्रौद्योगिकी, पेयजल, ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा, आयुष, आबकारी, न्याय, आपदा प्रबन्धन एवं पुनर्वास, नागरिक उड्डयन और पर्यावरण संरक्षण एवं जलवायु परिवर्तन।

सतपाल महाराज को मिला ये मंत्रालय
लोक निर्माण विभाग, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, धर्मस्व, पर्यटन, जलागम प्रबंधन और सिंचाई एवं लघु सिंचाई।

प्रेमचंद अग्रवाल के ये है मंत्रालय
वित्त, वाणिज्य कर, स्टाम्प एवं निबंधन, शहरी विकास, आवास, विधायी एवं संसदीय कार्य, पुनगर्ठन और जनगणना।

गणेश जोशी को मिला है ये मंत्रालय
कृषि, कृषि शिक्षा, कृषि विपणन, उद्यान एवं कृषि प्रसंस्करण, उद्यान एवं फलोद्ययोग, रेशम विकास, जैव प्रौद्योगिकी, सैनिक कल्याण और ग्राम्य विकास।

धन सिंह रावत को मिला है ये मंत्रालय
विद्यालयी शिक्षा (बेसिक और माध्यमिक), संस्कृत शिक्षा, सहकारिता, उच्च शिक्षा और चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा।

सुबोध उनियाल को मिला है ये मंत्रालय
वन, भाषा, निर्वाचन और तकनीकी शिक्षा।

रेखा आर्या को ये मंत्रालय
महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता, मामले, खेल और युवा कल्याण।

चंदन रामदास को मिला ये मंत्रालय
समाज कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, छात्र कल्याण, परिवहन, लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम और खादी एवं ग्रामोद्योग

सौरभ बहुगुणा को मिला ये मंत्रालय
पशु पालन, दुग्ध विकास, मत्स्य पालन, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग, प्रोटोकॉल और कौशन विकास एवं सेवायोजना

Dainik Samachaar

Dainik Samachaar

Leave a Comment

error: Content is protected !!