इंटरमीडिएट यानी 12वीं की अंग्रेजी का पेपर लीक होने की आशंका पेपर ना कराए जाने के निर्देश जारी

-परीक्षा की शुचिता बनाए रखने के लिए 24 जिलों के सभी केंद्रों पर परीक्षाएं रद्द की गई हैं
-इतनी सख्ती के बाद भी अगर कहीं चूक हुई है तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

दैनिक समाचार, उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में 10वीं और 12वीं की बोर्ड की परीक्षाएं जारी हैं। इसी क्रम में बुधवार को इंटरमीडिएट यानी 12वीं की अंग्रेजी का पेपर लीक होने की आशंका के बीच 24 जिलों के सभी सेंटर्स पर पेपर ना कराए जाने के निर्देश जारी कर दिए गए। शिक्षा विभाग की एसीएस आराधना शुक्ला ने कहा कि 24 जिलों में पेपर लीक नहीं हुआ है। पेपर सिर्फ 1 जिले में लीक हुआ लेकिन परीक्षा की शुचिता बनाए रखने के लिए 24 जिलों के सभी केंद्रों पर परीक्षाएं रद्द की गई हैं। आराधना शुक्ला ने कहा कि इसमें बच्चों की कोई गलती नहीं है। वहीं मंत्री गुलाब देवी ने कहा कि जैसे ही सुबह हमें जानकारी मिली कि बलिया में पेपर आउट हो गया है तुरंत ही सीएम योगी के साथ हमारी बैठक हुई। केवल बलिया में पेपर लीक की आशंका है। जिस सीरीज का पेपर लीक होने की आशंका है वह 24 जिलों में गए हैं ऐसे में उन जिलों में भी पेपर रद्द किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इतनी सख्ती के बाद भी अगर कहीं चूक हुई है तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बता दें बुधवार दोपहर बोर्ड ने बताया कि आगरा, मैनपुरी, मथुरा, अलीगढ़, गाजियाबाद, बागपत, बदाऊं, शाहजहांपुर, उन्नाव, सीतापुर, ललितपुर, महोबा, जालौन, चित्रकूट, अंबेडकरनगर, प्रतापगढ़, गोंडा, गोरखपुर, आजमगढ़, बलिया, वाराणसी, कानपुर देहात, एटा और शामली में अंग्रेजी के पेपर रद्द हो गए हैं। हालांकि परीक्षा बाकी जिलों में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी।

एसटीएफ जांच पर हो रहा विचार
मिली जानकारी के अनुसार पेपर लीक की जांच स्पेशल टास्क फोर्स कर सकती है। यूपी सरकार के निर्देश पर इंटरमीडिएट के अंग्रेजी के पेपर लीक मामले की जांच का जिम्मा उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ले सकती है। एसीएस अनुराधा शुक्ला ने कहा कि अभी इस पर विचार चल रहा है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!