महंगी शिक्षा से परेशान अभिभावकों के लिए इस सरकार ने लिया है बड़ा फैसला

-अभिभावकों के लिए फैसला : प्राइवेट स्कूलों की फीस बढ़ाने पर तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगा दी है

-कोई भी प्राइवेट स्कूल बच्चों की किताबों और यूनिफॉर्म किसी खास दुकान से खरीदने के लिए नहीं कहेगा

-शिक्षा महंगी होने की वजह से आम लोगों की पहुंच से दूर हो गई है

दैनिक समाचार, पंजाब, भगवंत मान ने पंजाब की सत्ता संभालते ही पंजाब की जनता के लिए लाभ पहुंचान की कोशिश कर रहे हैं। फिलहाल में ही 25 हजार सरकारी नौकरी के बाद अब शिक्षा के क्षेत्र में घोषणा की है। पंजाब में महंगी शिक्षा से परेशान अभिभावकों के लिए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सीएम भगवंत मान ने इसी सत्र से प्राइवेट स्कूलों की फीस बढ़ाने पर तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगा दी है। इसके अलावा कोई भी प्राइवेट स्कूल बच्चों की किताबों और यूनिफॉर्म किसी खास दुकान से खरीदने के लिए नहीं कहेगा। इसके लिए पंजाब सरकार जल्द ही पॉलिसी बनाकर जारी कर देगी। सीएम मान ने कहा कि शिक्षा महंगी होने की वजह से आम लोगों की पहुंच से दूर हो गई है। अभिभावकों को मजबूरी में बच्चों को स्कूली से हटाना पड़ रहा है। उनसे काम करवाना पड़ रहा है। ऐसा नहीं तो फिर वह बच्चों को ऐसी एजुकेशन दिलाने को मजबूर हो जाते हैं, जो आगे चलकर किसी काम नहीं आती। इसलिए पंजाब सरकार ने शिक्षा से जुड़े 2 बड़े फैसले किए हैं। पंजाब के प्राइवेट स्कूलों को तुरंत प्रभाव से आदेश कर दिए हैं कि वह इस सत्र में एक रुपया भी फीस नहीं बढ़ाएंगे। फीस बढ़ाने के लिए आने वाले दिनों में विस्तृत जानकारी देंगे। अभिभावकों, स्कूल प्रिंसिपल और उनके मालिकों से बैठकर बातचीत के बाद इसकी पॉलिसी बनाएंगे। मान ने कहा कि कोई भी स्कूल यूनिफार्म और किताबों की खरीद के लिए खास दुकान का पता नहीं बताएगा। उस इलाके की सभी दुकानों में यह सामान उपलब्ध करवाना होगा। यह मां-बाप की मर्जी है कि वह अपनी मर्जी से किताब और यूनिफार्म खरीदें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!