यह राशि केवल वीर सैनिकों के प्रति हमारा सम्मान मात्र है : श्रीमहन्त रविन्द्रपुरी

हमारी सेनाओं के अदम्य साहस, शौर्य, त्याग व बलिदान का स्वर्णिम इतिहास रहा है

सैनिक कल्याण कोष में आर्थिक अंशदान वीर सैनिकों के प्रति हमारा सम्मान

-51000 की धनराशि देश के वीर सैनिकों के लिए सैनिक कल्याण कोष में समर्पित

दैनिक समाचार, हरिद्वार, एस.एस.एम.जे.एन.(पी.जी.) काॅलेज में सशस्त्र झण्डा दिवस के अंशदान के लिए काॅलेज परिवार व छात्र-छात्राओं द्वारा बढ़-चढ़कर सहायता राशि एकत्र की गयी। काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा ने बताया कि अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद, माँ मंशा देवी मन्दिर ट्रस्ट व काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्रपुरी महाराज के नेतृत्व में, काॅलेज के प्राध्यापकों, कर्मचारियों व छात्र-छात्राओं द्वारा इक्यावन हजार रुपये की धनराशि देश के वीर सैनिकों के लिए सैनिक कल्याण कोष में जमा की गयी है। उन्होंने बताया कि हमारे महाविद्यालय को जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय द्वारा जो आर्थिक सहायता का लक्ष्य दिया गया था उसको शत-प्रतिशत पूर्ण किया गया है। श्रीमहन्त रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि हमारी सेनाओं के अदम्य साहस, शौर्य, त्याग व बलिदान का स्वर्णिम इतिहास रहा है। सेना के जवान सीमा पर सुरक्षा के अतिरिक्त देश की आंतरिक एवं दैवीय आपदाओं के समय देशवासियों के जीवन की रक्षा तथा उन्हें राहत पहुंचाने का भी महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। श्रीमहन्त ने कहा कि यह राशि केवल वीर सैनिकों के प्रति हमारा सम्मान मात्र है। प्राचार्य डाॅ. सुनील कुमार बत्रा बताया कि यह धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से सैनिक कल्याण कोष में हस्तान्तरित कर दी गयी है। अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. सरस्वती पाठक ने कहा कि हमारी सेना के वीर जवान अत्यन्त कठिन परिस्थितियों में एवं दुर्गम स्थानों पर तैनात रहकर न केवल राष्ट्र की सुरक्षा की कर रहे हैं, जिसके लिए सम्पूर्ण राष्ट्र उनका कृतज्ञ है। इस अवसर पर डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी, डॉ सरस्वती पाठक, डाॅ. तेजवीर सिंह तोमर, डाॅ. नलिनी जैन, डाॅ. जे.सी. आर्य, डाॅ. सुषमा नयाल, डाॅ. आशा शर्मा, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. अमिता श्रीवास्तव, रिंकल गोयल, रिचा मिनोचा, साक्षी अग्रवाल, डाॅ. सुगन्धा वर्मा, दिव्यांश शर्मा, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल, विनीत सक्सेना, डाॅ. प्रज्ञा जोशी, मोहन चन्द्र पाण्डेय सहित अनेक शिक्षकों व कर्मचारियों ने सैनिकों के लिए इस कल्याण कोष में अपना अंशदान दिया। 

Leave a Comment

error: Content is protected !!