अब आप किसी भी माध्यम से दिल्ली व देहरादून की यात्रा करोगे तो पहले से ज्यादा होगा खर्चा

-एनएचएआई ने 10 फीसदी तक राष्ट्रीय राजमार्गों में पड़ने वाले टोल प्लाजा शुल्क को बढ़ाया है
-टोल शुल्क बढ़ने के बाद उत्तरांचल कर्मचारी यूनियन ने बसों का किराया बढ़ाने की मांग की है

दैनिक समाचार, देहरादून 
अब दिल्ली और देहरादून जाने के लिए आपकों पहले से ज्यादा रुपए खर्च करने पड़ेगे। एनएचएआई ने 10 फीसदी तक राष्ट्रीय राजमार्गों में पड़ने वाले टोल प्लाजा शुल्क को बढ़ाया है, जो एक अप्रैल से लागू होगा। अब आप किसी भी माध्यम से दिल्ली व देहरादून की यात्रा करोगे तो पहले से ज्यादा रुपए खर्च होंगे। टोल शुल्क बढ़ने से उत्तराखंड परिवहन निगम पर भी बोझ बढ़ेगा जो पहले से आर्थिक नुकसान से जूझ रहा है। टोल शुल्क बढ़ने के बाद उत्तरांचल कर्मचारी यूनियन ने बसों का किराया बढ़ाने की मांग की है। अधिकारीयों का कहना है की बसों का किराया दो साल पहले बढ़ा है। तब से लेकर अब तक डीजल के दाम करीब 20 रुपए तक बढ़े हैं और नुकसान रोडवेज को उठाना पड़ रहा है। पहले से विभाग घाटे में है और अब टोल के बढ़ने से मुश्किले पहले से ज्यादा और बढ़ जाएगी। यूनियन ने अपील की है कि निगम किराया बढ़ाने को लेकर फैसला करें।

एक अप्रैल से 10 प्रतिशत टोल ज्यादा देना पड़ेगा
दिल्ली का सफर करने पर कुल 5 टोल प्लाजा पर शुल्क देना पड़ता है। इनमें 190 रुपये से लेकर 440 रुपये तक टोल देना पड़ता है। दूसरी तरफ देहरादून जाते वक्त चार टोल प्लाजा पर शुल्क देना होता है। जो 500-500 और एक में 580 रुपये है। निजी कार या टैक्सी से दिल्ली जाने पर 5 टोल प्लाजा पर 25 रुपये 130 रुपये तक शुल्क पड़ता है। एक अप्रैल से 10 प्रतिशत टोल ज्यादा देना पड़ेगा।

फिलहाल बसों में किराया नहीं बढ़ा है
फिलहाल बसों में किराया नहीं बढ़ा है लेकिन निजी वाहनों से यात्रा करने वालों को एक अप्रैल से यात्रा के लिए पहले से ज्यादा रुपए खर्च करने होंगे। दूसरी ओर निगम रोडवेज बसों का किराया कब बढ़ाए ये भी देखने वाली बात होगी। प्रबंध निदेशक रंजना राजगुरु ने कहा कि यात्रियों के हितो को देखते हुए रोडवेज के किराए बढ़ोतरी पर फैसला किया जाएगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!