भक्तों ने कंजक पूजन के साथ की मां दुर्गा के अष्टम स्वरूप मां महागौरी की पूजा

-मंदिर और घर घर हुआ भजन कीर्तन, उसके बाद हुआ कन्या पूजन

-मां दुर्गा के आठवें स्वरूप की पूजा के साथ कंजक पूजन से मां दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है

भक्तों ने हलवा, पूरी, चने व अन्य पकवान बनाकर कंजक को भोग लगाया और उनका आर्शीवाद प्राप्त किया

दैनिक समाचार, हरिद्वार, पुरे देश में चैत्र नवरात्रि का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस दौरान मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि की अष्टमी और नवमी तिथि को कन्या पूजन किया जाता है। कई लोग सप्तमी तक व्रत रखते हैं और अष्टमी पूजन करते हैं। वहीं, कुछ लोग अष्टमी तिथि तक व्रत रखकर नवमी पूजते हैं। हरिद्वार में मां दुर्गा के अष्टम स्वरूप मां महागौरी की पूजा भक्तों ने कंजक पूजन के साथ की। मंदिर और घर घर हुआ भजन कीर्तन, उसके बाद हुआ कन्या पूजन।

सकर अष्टमी के साथ नवरात्र संपन्न करने वाले भक्तों ने कंजक पूजन के साथ अपने व्रत भी संपन्न किए व खेत्री विसर्जित की। मां दुर्गा के आठवें स्वरूप की पूजा के साथ कंजक पूजन से मां दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है। भक्तों ने हलवा, पूरी, चने व अन्य पकवान बनाकर कंजक को भोग लगाया और उनका आर्शीवाद प्राप्त किया। वहीं कंजक को विदा करते समय विभिन्न प्रकार के उपहार भी दिए। हरिद्वार के रानीपुर मोड़, खन्ना नगर, आर्यन नगर, नन्द पूरी, ज्वालापुर, राम नगर, शिवपुरी कॉलोनी, कनखल, जगजीतपुर, मध्य हरिद्वार सहित संपूर्ण जगहों पर सुबह से ही कन्या पूजन शुरू हो गया था। शहर के मंदिरों में दिन भर रौनक रही। 

राम नवमी पर कन्या पूजन करने वालों के लिए 
हिंदू पंचांग के अनुसार राम नवमी का पावन पर्व चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाया जाता है, इस बार राम नवमी 10 अप्रैल 2022, रविवार को है। नवमी तिथि 10 अप्रैल, रविवार को सुबह 1 बजकर 32 मिनट से शुरु होकर 11 अप्रैल 2022, सोमवार को रात 3 बजकर 15 मिनट पर समाप्त होगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!